corona virus

उज्जैन में संदिग्ध कोरोना वायरस का मरीज मिला है। वह माधव नगर अस्पताल के आइसोलेशन रूम में भर्ती है। मरीज चीन के वुहान में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहा है। वह 13 जनवरी को भारत लौटा। चीन से आने वाले लोगों को नियंत्रित करने के लिए हवाई अड्डे पर समीक्षा के लिए एक समझौता है, लेकिन इससे पहले, छात्र भारत लौट आया। इस वजह से वहां इसकी जांच नहीं हो सकी।इन मरीजों को विदेश मंत्रालय की जानकारी में खोजा जा रहा है। इधर, कोरोना वायरस को लेकर मध्य प्रदेश में अलर्ट जारी किया गया था। स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने रोकथाम के लिए प्रमुख सचिव सहित जिले भर के स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देश जारी किए हैं।


मरीजों को सर्दी और खांसी से ठीक नहीं होता है

उज्जैन में पाए गए संदिग्ध मरीज को सर्दी खांसी की शिकायत है। कोरोनावायरस की पुष्टि के लिए नमूने पुणे भेजे गए हैं। सीएमएचओ डॉ। महावीर खंडेलवाल ने कहा कि मरीज और उसकी मां को क्राउन वायरस हो सकता है। दोनों का इलाज किया जा रहा है। जांच रिपोर्ट मिलने के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी। दोनों की हालत खतरे से बाहर है।

सभी स्वास्थ्य अधिकारियों को इसे गंभीरता से लेने को कहा गया।

स्वास्थ्य मंत्री तुलसीराम सिलावट ने कहा कि संसद की सरकार कोरोना वायरस के मामले को गंभीरता से लेती है। एयरपोर्ट पर निजी और सरकारी अस्पतालों को भी अलर्ट कर दिया गया था। मैंने स्वास्थ्य के मुख्य सचिव, स्वास्थ्य आयुक्त, साथ ही साथ राज्य भर में नष्ट हुए वायरस को गंभीरता से लेने और इसे रोकने के लिए उचित उपाय करने के निर्देश दिए हैं।

वायरस से प्रभावित देश से आने वालों की करवाई जा रही स्क्रीनिंग

मध्य प्रदेश सरकार ने भी सावधानी बरतते हुए राज्य में एक नोटिस जारी किया। स्वास्थ्य विभाग प्रभावित देशों से देवी अहिल्या हवाई अड्डे तक पहुंचने वाले यात्रियों का नियंत्रण और नियंत्रण कर रहा है। स्वास्थ्य विभाग ने एक अलर्ट जारी किया है जिसमें कहा गया है कि वायरस के बारे में जागरूकता बढ़ाना आवश्यक है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने जाेखिम के आंकलन में गलती मानी
डब्ल्यूएचओ ने स्वीकार किया कि कोरिया वायरस के वैश्विक जोखिम का आकलन करने में त्रुटि थी। संस्था ने ‘मध्यम’ से ‘उच्च’ तक जोखिम का स्तर बढ़ाया है। यह जोखिम चीन में ‘बहुत अधिक’ है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *