भोपाल, इंदौर व उज्जैन शहरों के 18 क्वारंटाइन केंद्रों पर मनोरंजक गतिविधियां शुरू

भोपाल . संस्थागत क्वारंटाइन सेंटर्स में रह रहे लोगों का मनोबल मजबूत बनाए रखने के लिए मध्यप्रदेश सरकार द्वारा इन केंद्रों में जागरूकता उत्साहवर्धक एवं मनोरंजक गतिविधियों का संचालन किया जा रहा है। जनसम्पर्क विभाग द्वारा भोपाल, इंदौर और उज्जैन जिलों के 18 संस्थागत क्वारंटाइन सेंटर्स पर इन जागरूकता एवं मनोरंजक गति​विधियों के आयोजन की आज से शुरुआत हो चुकी है। इन संस्थागत क्वारंटाइन केंद्रों पर रह रहे लोग भी इन गतिविधियों के आयोजन का लुत्फ उठा रहे हैं।

दरअसल, कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने से रोकने के लिए संभावित संक्रमितों को संस्थागत क्वारंटाइन सेंटर्स में रखा जाता है, जहां उनके स्वास्थ्य पर निरन्तर निगरानी रखी जाती है। भोपाल, इंदौर और उज्जैन में ऐसे संस्थागत क्वारंटाइन सेंटर्स संचालित किए जा रहे हैं। सीमित गतिविधियों और अपने परिवार से दूर रहते हुए कई दिनों तक इन क्वारंटाइन सेंटर्स में रहने की वजह से यहां रह रहे लोगों में तनाव, चिंता और अवसाद जैसी स्थितियां बन सकती हैं। वे बैचेन हो सकते हैं। इन लोगों को तनाव से मुक्ति मिलने के साथ भावनात्मक संबल मिल सके, इसके लिए संस्थागत क्वारंटाइन केंद्रों पर जागरूकता व मनोरंजक गतिविधियां आयोजित की जा रही हैं। विभाग की इस पहल का इन क्वारंटाइन सेंटर्स में रह रहे लोग लुत्फ उठा रहे हैं और कोरोना से जंग में अपना मनोबल भी मजबूत बनाए हुए हैं।

कोरोना संक्रमण से बचाव की भी दे रहे जानकारी

इन गतिविधियों की रूपरेखा को इस तरह बनाया गया है ताकि मनोरंजन के साथ-साथ इन गतिविधियों के जरिए कोरोना संक्रमण से बचाव एवं शासन द्वारा इस दिशा में किये जा रहे प्रयासों की जानकारी भी मिल सके। क्वारंटाइन में रह रहे लोग सोशल डिस्टेंसिंग और बरती जाने वाली अन्य सावधानियों को अपना सकें। इसके ​भी प्रयास किए जा रहे हैं।

विभिन्न खेलों व टेलीविजन द्वारा मनोरंजन

इन संस्थागत क्वारंटाइन सेंटर्स पर केबल कनेक्शन सहित टेलीविजन सेट लगाए गए हैं, जिनमें फिल्में, गाने आदि देखकर यहां रह रहे लोग मनोरंजन कर सकते हैं। इन केंद्रों पर इंडोर खेल गतिविधियों का आयोजन किया जा सके इसके लिए खेल सामग्री की किट भी दी गई हैं। ये खेल ऐसे हैं, जिन्हें सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए खेला जा सकता है।

गायन आदि गति​विधियों से कर रहे मनोरंजन

संस्थागत क्वारंटाइन केंद्रों पर आर्केस्ट्रा, गायन, भजन, कठपुतली, जादू, कव्वाली, मुशायरा, मिमिक्री, हास्य कार्यक्रम जैसी मनोरंजक गति​विधियों का आयोजन किया रहा है। सभी कार्यक्रमों का संचालन, सोशल डिस्टेंसिंग के साथ-साथ स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु जारी दिशा-निर्देशों के अनुरूप हों, इसके लिए हर सेंटर पर एक समन्वयक भी नियुक्त किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *